Advertisements

Category: देस हरियाणा

किरेळिया

किरळियाImage result for anton chekoh

लेखकः अंटोन चेखव,    अनुवाद: राजेंद्र सिंह

विश्व प्रसिद्ध रुसी कहानीकार अंटोन चेखव ने अपनी प्रसिद्ध कहानी गिरगिट में शासन-प्रशासन  में फैला भ्रष्टाचार, जनता के प्रति बेरुखी और अफसरशाही की चापलूसी को उकेरा है। भारतीय संदर्भों में भी प्रासंगिक है।

डा. पूरन सिंह – मातम

मातम

डा. पूरन सिंह 

ब लगभग सभी के घरों में कच्चे चमड़े का काम होता था। लोग कच्चे चमड़े के जूते बनाते थे। कुछ लोग मरे हुए जानवरों की खाल उतारते थे और उन्हें उस घर से जहां वह

बुत गूंगे नहीं होते

 गतिविधियां

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के प्राचीन इतिहास विभाग के सभागार में देस हरियाणा की तरफ वरिष्ठ कवि ओम प्रकाश करुणेश के हाल ही में प्रकाशित हुए काव्य संग्रह ‘बुत गूंगे नहीं होते’ पर समीक्षा गोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में

कल्पित तुझे सलाम

कल्पित तुझे सलाम

गुरबख्श  सिंह मोंगा

अनुसूचित जाति के कल्पित वीरवाल द्वारा आई.आई.टी. की प्रवेश परीक्षा में सौ फीसदी अंक लाना बताता है कि प्रतिभा किसी जाति विशेष की जागीर नहीं है।  सी.बी.एस.ई. द्वारा आयोजित आई.आई.टी- जे.ई.ई. मेन्स कि परीक्षा