Advertisements

Category: साझी संस्कृति

लाहौर के सिखों के लिए संदेश-गांधी का भारत

               अकाली लोगों का यह दल विशुद्धिवादियों का एक भारी दल है। गुरुद्वारों में जो बुराइयां घर कर गई हैं, उन्हें दूर करने के लिए बहुत ही बेताब है। सभी गुरुद्वारों में एक ढंग की उपासना हो, उस पर उनका बड़ा

स्वराज की परिभाषाएं-गांधी का भारत

मेरे दिमाग में स्वराज की जो कई परिभाषाएं चक्कर काटती रही हैं, उन्हें मैं पाठकों के सामने रखने की इजाज़त चाहता हूं।

(1) स्वराज का मतलब है-अपने ऊपर राज। जो यह कर ले सका है उसने अपनी व्यक्तिगत प्रतिज्ञा पूरी

भारतीय राष्ट्रीय चेतना और एकता के स्वर

प्रस्तुति : अशोक भाटिया

चेतना डॉट कॉम (करनाल ) की ओर से विचार-विमर्श श्रृंखला की पहली कड़ी  ‘भारतीय राष्ट्रीय चेतना और एकता के स्वर ‘ विषय पर आयोजित सेमिनार के रूप में हुई |संस्था के संयोजक डा.अशोक भाटिया ने विषय

महात्मा गांधीः धर्म और साम्प्रदायिकता

 प्रोफेसर सुभाष चन्द्र

आधुनिक भारत पर साम्प्रदायिकता की काली छाया लगातार मंडराती रही है। साम्प्रदायिकता के कारण भारत का विभाजन हुआ और अब तक साम्प्रदायिक हिंसा में हजारों लोगों की जानें जा चुकी हैं और लाखों के घर उजड़े हैं,