Advertisements
Skip to main content

मैं हिन्दू भी हूं और मुसलमान भी

विनोबा भावे

रामकृष्ण परमहंस ने इस्लाम, ईसाई आदि अन्य धर्मों की उपासना की थी, उनकी प्रत्यक्ष अनुभूति प्राप्त करने के लिए साधना की थी और सब धर्मों का समन्वय उन्हें प्राप्त हुआ था। उन्होंने भिन्न-भिन्न धर्मों में की जाने वाली

पंज प्यारे – जातिवाद पर कड़ा प्रहार और ज

अर्शदीप

होला- मोहल्ला विशेष

गुरु की नगरी के नाम से मशहूर आनंदपुर साहिब शहर का यह पंज प्यारा पार्क है। यह वही पार्क हैं जहां पर सर्वोच्च बलिदान यानी अपने शीश की बलि देने के लिए भारत के पाँच वीर

‘लोकां दियां होलियां, खालसे दा होला ए’ –

पंजाब में होली नहीं मनाया जाता है होल्ला-मोहल्ला

अर्शदीप

सर्द ऋतु समाप्त हो रही है और वसंत दस्तक दे रहा है। प्रकृति अपने रंग भर रही है। पूरे देश में होली मनाने की तैयारी चल रही है। जब पूरा देश

कुछ स्मरणीय सूक्तियां-गांधी का भारत

गांधी जी की कुछ स्मरणीय सूक्तियां-

  • हमें ये सारी बातें भुला देनी हैं कि ‘मैं हिंदू हूं, तुम मुसलमान हो’, या ‘मैं गुजराती हूं, तुम मद्रासी हो।’ ‘मैं’ और ‘मेरा’ को हमें भारतीय राष्ट्रीयता की भावना के अंदर डुबो देना