Advertisements

Category: विविध

आबिद आलमी की कुछ यादें – महावीर शर्मा

यादें



महावीर शर्मा

मैं जब आबिद आलमी से पहली बार मिला तो मुझे नहीं पता था कि प्रोफ़ेसर आर.एन.चसवाल आबिद आलमी भी थे। मुलाकात 1968 में गवर्नमेंट कॉलेज, रोहतक में हुई थी जहां सरकार ने उन्हें अंग्रेजी विभाग में प्राध्यापक

चसवाल साहेब यानी आबिद आलमी सिद्धांत के आदमी थे

यादें


शशिकांत श्रीवास्तव

मैं अपने-आपको बहुत खुश-किस्मत समझता हूं कि मुझे प्रो. रामनाथ चसवाल के साथ कुछ साल काम करने का मौका मिला। पहले जी.सी. भिवानी और फिर जी.सी. रोहतक में। वह भी अंग्रेजी विभाग में थे और कई बार