Advertisements

Category: विविध

एक नदी के गंदे नाले में बदल जाने का सफर

पंकज चतुर्वेदी

आज के हिंदुस्तान के सम्पादकीय पर यह लेख बहुत दुःख के साथ, हमारी काहिली के प्रति रोष के साथ है, काश इस लोकसभा चुनाव में आप वोट मांगने वालों से अपने इलाके के नदी-तालाब- जोहड़- कुंए के ख़तम

मैक्सिम गोर्की का पत्र रूसी कामरेडों के नाम

मैक्सिम गोर्की का पत्र रूसी कामरेडों के नाम

गरीबी की क्रूरता के विरुद्ध संघर्ष का अर्थ है, दुनिया में फैले उत्पीडऩ के जाल से मुक्ति के लिए छेडी गई जंग, और ढेरों असभ्य विरोधाभासों से भरी इस लड़ाई को लोग

सासड़ होल़ी खेल्लण जाऊंगी

मंगतराम शास्त्री

सासड़ होल़ी खेल्लण जाऊंगी, बेशक बदकार खड़े हों।

री मनै पकड़ना चावैंगे, जाणूं सूं जाल़ बिछावैंगे
ना उनकै काबू आऊंगी, कितनेए हुशियार खड़े हों।

हेरी इसा कोरड़ा मारूंगी, देही तै चमड़ी तारूंगी
मैं कती नहीं घबराऊंगी, चाहे थानेदार

म्हारै गाम का चौकीदार – #MainBhiChowkidar

म्हारै गाम का चौकीदार

बोहत टैम पहल्यां की बात सै। म्हारै गाम म्हं एक चौकीदार था। उसके बोहत सारे काम थे। गाम कुछ भी होंदा उसका गोहा (संदेशा, मुनियादी) उसने ए देणा पड़े करदा। कोटा म्हं चीनी मिलणी होंदी, माटी