Advertisements

Category: सामयिक

भारत में रोज़गार की दशा क्या है?

ऑक्सफ़ैम इंडिया की एक नई रिपोर्ट के मुताबिक़ देश में महिलाओं के रोज़गार की बात करें तो उनके लिए रोज़गार का परिदृश्य, और उसके लिए स्थितियाँ और भी ज़्यादा धुंधली हैं।
election 2019

भारत में रोज़गार

एक नदी के गंदे नाले में बदल जाने का सफर

पंकज चतुर्वेदी

आज के हिंदुस्तान के सम्पादकीय पर यह लेख बहुत दुःख के साथ, हमारी काहिली के प्रति रोष के साथ है, काश इस लोकसभा चुनाव में आप वोट मांगने वालों से अपने इलाके के नदी-तालाब- जोहड़- कुंए के ख़तम

मैं हिन्दू भी हूं और मुसलमान भी

विनोबा भावे

रामकृष्ण परमहंस ने इस्लाम, ईसाई आदि अन्य धर्मों की उपासना की थी, उनकी प्रत्यक्ष अनुभूति प्राप्त करने के लिए साधना की थी और सब धर्मों का समन्वय उन्हें प्राप्त हुआ था। उन्होंने भिन्न-भिन्न धर्मों में की जाने वाली

कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी : विवि प्रशासन और संयुक्त छात्र संघर्ष समिति आमने-सामने

सांकेतिक तस्वीर
(फाइल फोटो)

मुकुंद झा


संयुक्त छात्र संघर्ष समिति के संयोजक विनोद गिल ने एक बयान में कहा कि परीक्षाएं नजदीक होने के बावजूद जिस प्रकार छात्र-छात्राओं के खिलाफ निष्कासन की कार्रवाई की गई है वह छात्रों के प्रति कुलपति के