Advertisements

Category: साहित्य विमर्श

एक थे नामवर सिंह – प्रोफेसर सुभाष सैनी

प्रोफेसर सुभाष सैनी

नामवर सिंह (जन्म: 28 जुलाई 1926 बनारस, उत्तर प्रदेश निधन: 19 फरवरी 2019, नयी दिल्ली) हिन्दी के शीर्षस्थ शोधकार-समालोचक, निबन्धकार तथा मूर्द्धन्य सांस्कृतिक-ऐतिहासिक उपन्यास लेखक हजारी प्रसाद द्विवेदी के प्रिय शिष्‍य रहे। अत्यधिक अध्ययनशील तथा विचारक प्रकृति

मैं क्यों लिखता हूं?

  डॉ. दिनेश दधीचि

(दिनेश दधीचि स्वयं उच्च कोटि के कवि व ग़ज़लकार हैं। और विश्व की चर्चित कविताओं के हिंदी में अनुवाद किए हैं, जिंन्हें इन पन्नों पर आप निरंतर पढ़ते रहेंगे।  रचनाकार के लेखकीय सरोकार, लेखन से उसकी अपेक्षाएं

मैक्सिम गोर्की का पत्र रूसी कामरेडों के नाम

मैक्सिम गोर्की का पत्र रूसी कामरेडों के नाम

गरीबी की क्रूरता के विरुद्ध संघर्ष का अर्थ है, दुनिया में फैले उत्पीडऩ के जाल से मुक्ति के लिए छेडी गई जंग, और ढेरों असभ्य विरोधाभासों से भरी इस लड़ाई को लोग

साहित्य से जोड़ने के लिए विभिन्न प्रयास करने होंगे

रंजना अग्रवाल

 रंजना अग्रवाल की स्वामी वाहिद काजमी से बातचीत
 (वयोवृद्ध साहित्यकार स्वामी वाहिद काजमी अंबाला (छावनी) में रहते हैं। भारतीय इतिहास व साहित्य के जानकार हैं।  भारत की सांझी संस्कृति व उदार परंपराओं को विशेष तौर पर उदघाटन करते