Advertisements

Category: हरियाणवी कविता

विनोद सिल्ला की कविताएं – हरियाणा सृजन उत्सव-2019

Advertisements

ऐ हिंद पाक के लोगों – अमृतलाल मदान

अमृतलाल मदान (पिछले पचासों सालों से साहित्य सृजन में सक्रिय वरिष्ठ साहित्यकार अमृतलाल मदान हरियाणा के कैथल शहर के निवासी हैं। नाटक, कविता, उपन्यास, यात्रा आदि लगभग हर विधा में साहित्य रचना कर रहे हैं। प्रगतिशील मूल्य व चेतना इनके

दीया

संगीता बैनीवाल

सारे दीखैं तोळा-मासा
मैं तो बस रत्ती भर सूं
माटी म्ह मिल ज्यां इक दिन
माटी तैं फेर बण ज्यां सूं
जितना नेह-तेल भरोगे
उतनी राह रोशन कर ज्यां सूं
धरो बाती जिब मेरे हिया पै
हंसते-हंसते जळ

कदे सोच्या के ?

विक्रम राही

वाटस एप पै पोस्ट फारवर्ड
एडवांस हो चाहे हो बैकवर्ड
कदे सोच्या के ?

फेसबुक पै रहै रोज हाजरी
पड़ोस मैं चाहे आग लागरी
कदे सोच्या के ?

बेटी बचाण की क्यूँ आई नौबत
माणस सां माणस की