Advertisements

Tag: खेती-बाड़ी

कुलदीप सिंह ढींढसा – खेती को लाभकारी पेशा नहीं बना पाए

1966 में हमारे सामने अनेक चुनौतियां थी। मुझे याद है उस समय पंजाब  के एक नेता ने कहा था कि इनके पास खाने को तो अन्न है नहीं, ये हरियाणा बनाकर क्या करेंगे। हमारे कृषि वैज्ञानिकों और किसानों ने मिलकर

सतीश त्यागी – किसान-संघर्ष से जन्मी सत्ताओं ने ही किसान को दुत्कारा

खेती-बाड़ी


1930 के दशक में चौधरी छोटूराम  हरियाणा के किसानों का आह्वान कर रहे थे कि वे अपने हकों के लिए संघर्ष का रास्ता अख्तियार करें। खुद छोटूराम पंजाब सरकार में मंत्री के रूप में किसानों की जिंदगी बेहतर बनाने

सुधीर डांगी – सरकार से किसान को अपनापन नहीं मिलता

खेती-बाड़ी


यह विडम्बना ही है कि कृषि-प्रधान देश में आज किसान किसी भी प्रकार से केंद्र में नही है। चाहे कोई भी सरकार हो, किसी भी सरकार से किसान को अपनापन नहीं मिलता। विशेषकर जब से भारत में भूमंडलीकरण और

राजकुमार शेखुपुरिया – खेती में आए बदलाव

खेती-बाड़ी

सिरसा जिला के उत्तर में पंजाब और पश्चिम और दक्षिण में राजस्थान है। यहां बोलचाल में पंजाबी, हिन्दी और बागड़ी भाषा का प्रयोग आमजन करते हैं। सिरसा के चारों ओर बड़े-बड़े धार्मिक डेरे हैं। यहां की जनसंख्या वर्तमान में