Advertisements

Tag: चंबा

सोनकेसी – पहाड़ी लोक-कथा

एक बार एक साहुकार था। उसके चार पुत्र थे ।चार में से बड़े तीन पुश्तैनी धन्धे के साथ अपना-अपना काम धन्धा  भी करते थे पर सबसे छोटा बेटा कोई काम-धाम नहीं करता था । उसकी इस आदत की वजह से

शंवाई-पंझेई – दो लड़कियों की बलि देकर बनाया गया था शिव मंदिर

– अर्शदीप सिंह

चंबा जिले की सुंदर वादियों में स्थित है एक छोटी सी तहसील चुराह। चुराह तहसील ऊंचे पहाड़ों पर बसने वाले दो गांव इस इलाके के प्रसिद्ध गांव है एक का नाम है पंझेई और दूसरे का नाम