Advertisements

Tag: मनजीत भोला

मनजीत भोला की हरियाणवी कविता

 

Advertisements

मनजीत भोला की रागनी

फेसबुक पै फ्रेंड पाँच सौ

फ़ेसबुक पै फ्रेंड पांच सौ पड़ोसी तै  मुलाकात नहीं

तकनीक नई यो नया जमाना रही पहलड़ी बात नहीं

 

व्ट्स एप पै ग्रुप बणा लिए ना दीखै टोळी यारां की

दूर- दूर तक चलती चैटिंग