Advertisements
Skip to main content

छाती, तू और मैं – निकिता आजाद

nikनिकिता आजाद (युनिवर्सिटी ऑफ आक्सफोर्ड) में पढ़ी हैं। उन्होंने  ‘हैपी टु ब्लीड’ लिखे सैनिटरी नैपकिन के साथ अपनी तसवीर पोस्ट करते हुए लोगों को पितृसत्तात्मक रवैए के खिलाफ खड़े होने की अपील की थी और सोशल मीडिया पर #happytobleed

सुरे��ा की कविताएं

सुरेखा की कविताएं

मुस्कराहट

वो जो मुस्कराती है

सर्फ और साबुन के पैकेट पर

कपड़ों, बल्ब, ट्यूबलाईट और

बीमा के विज्ञापनों में

वो जो मुस्कुराती है

हमारे कलेंडर और

मोबाईल फोन के होर्डिंग्स में

काश मुझे मिल जाए

सड़क या