पँजाब में मेवों (मद्रों) की उपस्थिति क प्रमाण तो महाभारत काल से ही मिलते है , मगर सिंकदर के आक्रमण (326 ई.पू.) के समय से प्रमाण स्पष्ट रूप से सामने आ जाते हैं। सिकंदर का इतिहासकार हेरोडॉटस उन्हें मेर (MOER)