Advertisements
Skip to main content

ठोस अपशिष्ट प्रबंधन

डा. हरदीप राय शर्मा

(जीवन जीने के क्रम में मनुष्य कूड़ा कचरा उत्पन्न करता है, लेकिन अब कूड़े-कचरे को ठिकाने लगाने की समस्या एक विकराल रूप धारण कर चुकी है। पर्यावरण के लिए यह संकट पैदा कर रही हैं। इसके

हरियाणा में 1857 का राष्ट्रीय विद्रोह

प्रो सूरजभान

Suraj_Bhan_(Indian_archaeologist) भारत में इस वर्ष 1857 के राष्ट्रीय विद्रोह की 150वीं सालगिरह मनाई जा रही है। इस विद्रोह को देसी और विदेशी इतिहासकारों ने अपनी – अपनी दृष्टियों से देखने और इसके महत्व को आंकने की कोशिश की थी,

डा. पंकज गुप्ता – संभ्रात वर्ग की पहुंच

सेहत

भारत में  1980-90 के दशकों तक ‘हस्पताल’ सुविधा ज्यादातर सरकारी या पब्लिक क्षेत्र में थी। आर्थिक उदारीकरण के बाद ढांचागत परिवर्तन से सरकारों ने निजी संस्थाओं के लिए सस्ती जमीन, टैक्स छूट, आयात पर छूट इत्यादि की घोषणा की,