Advertisements

Satyashodhak

सत्यशोधक फाउंडेशन

उद्देश्य:

  1. समाज के साहित्यिक-सांस्कृतिक-कलात्मक विकास व उसके संरक्षण के लिए सेमिनार, कार्यशालाएं तथा साहित्यिक-सांस्कृतिक उत्सवों-मेलों आदि विभिन्न किस्म की गतिविधियों का आयोजन एवं प्रोत्साहन करना।
  2. समाज की साहित्यिक-सास्कृतिक-कलात्मक रूचियों व चेतना के परिष्कार के लिए प्रिंट-इलेक्ट्रोनिक श्रव्य-दृश्य माध्यमों के लिए सामग्री निर्माण, वितरण, प्रसारण और सलाह देना।
  3. शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण व वैज्ञानिक चेतना के प्रसार के लिए समय-समय पर विभिन्न स्वतंत्र तौर पर व अन्य संस्थाओं-संगठनों के साथ मिलकर आवश्यक गतिविधियां करना।
  4. सामाजिक सोहार्द्र, साम्प्रदायिक भाईचारे, सामाजिक न्याय, साझी संस्कृति, शांति व सदभाव, एकता-अंखडता को बढ़ावा देने के लिए स्वतंत्र तौर पर व अन्य संस्थाओं-संगठनों के साथ मिलकर आवश्यक काम करना।
  5. साहित्य, पुस्तकें, पत्र-पत्रिकाएं, डाक्यूमेंट्री, फिल्मों का निर्माण एवं वितरण करना तथा व संचार के अन्य साधनों-माध्यमों को विकसित करना। इस क्षेत्र में कार्यरत व्यक्तियों, संस्थाओं, संगठनों के साथ मिलकर काम करना और न्यास के उद्देश्यों की प्राप्ति हेतु बैठकों, सभाओं, संगोष्ठियों, जन रैलियों, जनसभाओं तथा जागरुकता कार्यक्रमों, प्रतियोगिताओं आदिका आयोजन करना।
  6. समाज में पठन-पाठन की संस्कृति विकसित करने के लिए पुस्तकालय की स्थापना करना तथा इसे बढ़ावा देने वाली गतिविधियां आयोजित करना।
  7. भारतीय संविधान के संकल्पों व मूल्यों के प्रति सामाजिक जागरूकता व स्थापना के लिए विभिन्न उपक्रम करना।
  8. सावित्रीबाई फुले, जोतीबा फुले व अन्य महापुरुषों के जीवन-आदर्शों व कार्यों के प्रसार के लिए कार्य करना।
  9. अक्षम, विकलांग, मानसिक या शारीरिक रूप से कमजोर, वृद्धजनों, महिलाओं, निर्धन वर्ग के अधिकारों की रक्षा व उत्थान के लिये सहायता करना। उनके जीविकोपार्जन के लिए लघु एवं कुटीर उद्योगों की स्थापना करना।
  10. अनुसूचित जातियों, जनजातियों, अल्पसंख्यकों तथा पिछड़े वर्गों के अधिकारों, संस्कृति व सामाजिक न्याय व चेतना प्रसार के लिए कार्य करना व इसके लिए अन्य संस्थाओं, संगठनों या व्यक्तियों के साथ मिलकर कार्य करना।
  11. रंग, वंश, लिंग, जाति या धर्म का भेदभाव ना करते हुएविद्यार्थियों के लिए छात्रवृत्तियों की स्थापना, अध्ययन के लिए पुस्तकों, वज़ीफा, पदकों या अन्य प्रोत्साहनों का वितरण व संचालन करना तथा अन्य प्रकार से सहायता करना।
  12. भारत में विज्ञान, शिक्षा, स्वास्थ्य, साहित्य, संगीत, नाट्यविधा, ललित कलाओं के उत्थान, ऐतिहासिक स्मारकों के संरक्षण तथा अनुसंधान हेतु संस्थानों की स्थापना करना तथा इसी तरह के उद्देश्यों के लिए कार्यरत अन्य संस्थानों को प्रोत्साहन देना, समर्थन, संचालन तथा सहयोग प्रदान करना एवं उनको बढ़ावा देना.
  13. प्राकृतिक आपदाओं जैसे अकाल (दुर्भिक्ष), तूफ़ान (चक्रवात), भूकंप, बाढ़, आगजनी, महामारी आदि के समय पीड़ित ज़रूरतमंद लोगों को सहायता एवं राहत प्रदान करना तथा ऐसे राहत कार्यों में लगी संस्थाओं को दान एवं अन्य सहायता प्रदान करना.
  14. न्यास के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए समय समय पर विभिन्न समितियों व प्रकोष्ठों का गठन करना, उचित व्यक्तियों की पहचान करना व उनकी सहायता लेना व देना,
  15. न्यास के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए समय समय पर अन्य सार्वजनिक पारमार्थिक न्यासों अथवा संस्थानों से सहायता लेना व प्रदान करना.

 

कार्यालय –   # 912, सेक्टर 13, हाऊसिंग बोर्ड, कुरुक्षेत्र

Related Posts

Advertisements